— संवाददाता
— 14 जुलाई 2020

पलामू जिले के छतरपुर के मसिहानी पुनर्वास कॉलोनी में सरकारी राशि से चाहरदीवारी का निर्माण किया जा रहा है । स्थानीय लोगों का कहना है कि संबद्ध ठेकेदार द्वारा प्राक्कलन की विशिष्टियों को नजर अंदाज करके घटिया निर्माण कराया जा रहा है । ग्रामीणों ने जब ठेकेदार से स्टीमेट के मुताबिक काम करने के लिए कहा तो ठेकेदार बोला – जहां जाना है जाओ, हम तो ऐसे ही काम करेंगे, जैसे कर रहे हैं ।

स्थानीय लोगों का कहना है कि निर्माण में बांग्ला भट्ठा के ईंट का प्रयोग हो रहा है । पांच-एक में मसाला बन रहा है । 12 एमएम की जगह 6 एमएम सरिया दिया जा रहा है ।

इस बावत रिंकु सिंह नामक स्थानीय पत्रकार ने जब बटाने जलाशय डिजाइन वन के कार्यपालक अभियंता विश्वनाथ तांती से बात की तो उन्होंने कहा कि अगर घटिया सामग्री का उपयोग किया जा रहा है तो संवेदक पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी । एक दो दिन में हम स्थल पर आकर चाहरदीवारी निर्माण की स्वयं जांच करेंगे। अगर अनियमितता पाई गई तो कनीय अभियंता व संवेदक पर कार्रवाई के लिए विभाग को लिखेंगे ।