— संवाददाता
— 14 जुलाई 2020

श्री बंशीधर नगर । शिक्षा जगत से लंबे समय से जुड़े भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अलखनाथ पांडेय ने कहा है कि मानव संसाधन विकसित हो तो विकास के सारे द्वार स्वत खुल जाते हैं। जिस स्टूडेंट की इंटर में पढ़ाई अच्छी हो गई उसे लक्ष्य हासिल करने में देर नहीं होती। वे चित्तविश्राम में श्री बंशीधर इंटर महाविद्यालय के शुभारंभ के मौके पर बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि सिर्फ डिग्रियां बांटने के लिए शिक्षण संस्थान नहीं खुलने चाहिए, बल्कि नए शिक्षण संस्थानों में आधुनिक शिक्षा और क्वालिटी एजुकेशन की बात होनी चाहिए। अच्छी शिक्षा आज समय की जरूरत है।

उन्होंने कॉलेज प्रबंधन को उनके कर्तव्यों से अवगत कराते हुए कहा कि शिक्षण संस्थान के सूत्रधार को बहुत बड़ी कुर्बानी देनी पड़ती है। तभी संस्थान प्रबंधन पवित्र उद्देश्यों को पूरा कर पाता है। उन्होंने भरोसा जताया कि श्री बंशीधर इंटर महाविद्यालय में छात्र छात्राओं को गुणवत्तापरक शिक्षा और अनुशासन को प्राथमिकता दी जाएगी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे तेज प्रताप पांडेय ने कहा कि 1976 से 1982 तक चित्तविश्राम में उन लोगों ने तन मन धन से हाईस्कूल खड़ा किया। आज बूढ़े हो गए हैं और कुछ लोग धरती पर नहीं है, पर गांव के नौजवान आज कई गुना समृद्ध और ऊर्जावान भी हैं। वे जो चाहे कर सकते हैं।

भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रघुराज पांडेय ने कहा कि वे जब अपने गांव या दक्षिण पश्चिम के गांव के लड़कियों को जब दूर इंटर पढ़ने जाते देखते थे, तो बड़ी कुंठा होती थी। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उनके गांव का बढ़ा कदम मेरे सपनों को साकार करने वाला है। अच्छी शिक्षा व्यवस्था भविष्य में प्राप्त हो हम सभी इसके लिए मिलजुल कर प्रयास करेंगे।

महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य सह शंकर प्रताप देव महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य कृष्णमुरारी सिंह ने कहा कि किसी संस्था के लिए भूमि, भवन और मनसा की आवश्यकता होती है। यहां के लोगों की मनसा दृढ़ है। भूमि की उपलब्धता लगभग हो चुकी है। बाबा बंशीधर की कृपा से भवन भी अवश्य बन जाएगा।

श्री बंशीधर इंटर महाविद्यालय का शुभारंभ

कार्यक्रम के उत्तरार्द्ध में एक सादे समारोह में मंगलवार को आम जनता की ओर से पूर्व में चित्तविश्राम में प्रस्तावित श्री बंशीधर इंटर महाविद्यालय का शुभारंभ हुआ। जिसका शुभारंभ गढ़वा जिले में शिक्षा जगत के पुरोधा अलखनाथ पांडेय, प्रभारी प्राचार्य कृष्णमुरारी सिंह, रघुराज पांडेय, अमरनाथ पांडेय, तेज प्रताप पांडेय, श्रीकांत मिश्रा एवं नंद किशोर पांडेय ने संयुक्त रुप से महाविद्यालय के नाम का अनावरण एवं नारियल फोड़कर किया।

इस अवसर पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णत: पालन करते हुए कोरोना के संक्रमण से बचाव के प्रति लोगों को जागृत करने के लिए मास्क का वितरण और पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य से वृक्षारोपण हुआ। उस मौके पर कृष्णमुरारी सिंह को प्रभारी प्राचार्य का दायित्व सौपा गया। महाविद्यालय संचालन की जिम्मेदारी पर्यावरण जागृति एवं शैक्षणिक विकास समिति को दी गई।

इस अवसर पर एसएमडीसी अध्यक्ष संजय पांडेय, सुग्रीव पांडेय, शिव कुमार पांडेय, पूर्व मुखिया यमुना सेठ, नागेंद्र पांडेय, अशोक सिंह, सीआरपी संजय कुमार सिंह, मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारिकानाथ पांडेय, संजय कुमार शुक्ल, संजय पांडेय, सुशील पांडेय, धनंजय तिवारी, रामराज पांडेय, रामजी सेठ, संजय सेठ, मुखलाल, अनिल सेठ, सुमेद साव, रवि विश्वकर्मा व पर्यावरण जागृति के सदस्यगण उपस्थित थे।