रांची:केंद्र सरकार झारखंड के 74582 करोड बकाया को वापस नहीं कर रहा है .जिसके कारण झारखंड में विकास की गति को ब्रेक लग गया है. इस मामले को लेकर पंकज यादव ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है .और उनसे मांग की है की अविलंब झारखंड के बकाया राशि को चुकता करें, ताकि झारखंड में विकास कार्य हो सके. 2 दिन पहले ही केंद्र सरकार ने झारखंड के खाते से 1417 करोड़ डीवीसी के उधार के पैसे काट लिया बगैर झारखंड सरकार के सहमति के .झारखंड से कोयला सहित अन्य खनिजों की उपलब्धता पूरे भारत को कराई जाती है पर राजनीतिक कारणों से झारखंड की अनदेखी किसी भी रुप से सही नहीं है. झारखंड में नई सरकार आने के बाद से ही कोरोना काल प्रारंभ हो गया जिसके चलते झारखंड में कोई विकास कार्य नहीं हो पाया और अब झारखंड का खजाना खाली है. केंद्र सरकार झारखंड को उसका हक देकर झारखंड की जनता को खुशहाल बना सकती है .राजनीतिक कारणों से झारखंड को उसके अधिकार से वंचित रखना कतई उचित नहीं है. पंकज यादव ने झारखंड की समस्याओं से अवगत कराते हुए झारखंड के खनिज व जीएसटी के बकाया को वापस करने की मांग प्रधानमंत्री जी से की है.

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.