— कविलास मंडल
— 27 जून 2020

छतरपुर डीएसपी शंभु कुमार सिंह का कहना है कि गत 16 जून की रात्रि में अपराधियों ने हरिहरगंज में जिस अरविन्द ठाकुर हत्याकांड को अंजाम दिया था, वह पूरा मामला ही हथियारों की खरीद-बिक्री से संबंध रखता है । पुलिस इस दिशा में निरंतर आगे बढ़ रही है और उसे सफलता भी मिल रही है । इसी कड़ी में हथियार और गोली के साथ दो और लोगों को पकड़कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है ।

हरिहरगंज । हथियार खरीद मामले में हरिहरगंज पुलिस ने दो व्यक्तियों रंजीत कुमार गुप्ता तथा अलीम अंसारी को गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया है। इनमें रंजीत कुमार गुप्ता उर्फ कारू हरिहरगंज बाजार तथा सलीम अंसारी सियरभूका का रहने वाला है।

इस संबंध में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी दीपक कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर बताया कि गत 16 जून की रात्रि में हरिहरगंज से सटे बिहार के महाराजगंज निवासी अरविंद ठाकुर हत्याकांड में गिरफ्तार अपराधी श्रवण कुमार गुप्ता गोपाला स्वीट्स के मालिक तथा प्रवीन जायसवाल ने स्वीकार किया था कि वे लोग गढ़वा के दीपक सोनी से हथियार खरीदने व बेचने का काम करते थे। इस बाबत हरिहरगंज थाना में आरोपियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत कांड दर्ज किया गया है।

दोनों आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लेकर उनसे पूछताछ की गयी तो, उन्होंने गिरफ्तार दोनों व्यक्तियों के नाम का  खुलासा किया । हत्यारोपियों की निशानदेही पर रंजीत कुमार गुप्ता उर्फ कारू के हरिहरगंज सीएचसी के समीप गोदाम से देसी पिस्टल व दो गोली तथा सियरभुका गांव के  अलीम अंसारी के घर से रिवाल्वर व चार गोली बरामद किया गया है। अन्य लोगों के संदर्भ में पुलिस छानबीन कर रही है। रंजीत कुमार गुप्ता ने 6 माह पहले 30 हजार में हथियार खरीदा था। जबकि अलीम अंसारी 12 हजार में हथियार खरीदा था। थाना प्रभारी दीपक कुमार ने बताया कि हथियार के अवैध व्यापार के सम्बन्ध में एसआईटी टीम द्वारा लगातार अनुसंधान और छापेमारी की जा रही है।

दिनांक 16 जून को रात्रि में हरिहरगंज थाना के बाद भी गांव में अरविंद कुमार ठाकुर, महाराजगंज, थाना कुटुंबा की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी । इस संबंध में 17 जून को अज्ञात लोगों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया गया था । इस घटना के उद्भेदन हेतु पलामू एसपी के निर्देश पर छतरपुर डीएसपी शंभु कुमार सिंह के द्वारा एक एसआईटी टीम का गठन किया गया था । टीम द्वारा कांड का त्वरित उद्भेदन करते हुए घटना में शामिल दो अपराध कर्मियों श्रवण कुमार गुप्ता और प्रवीण जायसवाल को 19 जून को ही जेल भेज दिया गया था । ये दोनों हत्यारे हथियारों के अवैध व्यापार में संलिप्त थे । उस वक्त इनके पास से कई हथियार और अवैध गोलियां गोलियां बरामद की गईं थीं ।

दल में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी दीपक कुमार, एसआई इंद्रदेव राम, प्रशिक्षु एसआई अजय कुमार सिंह, अभय आनंद, सोनू कुमार दास, वरुण कुमार हजाम, सुमित कुमार दास, अवध बिहारी पांडेय, एएसआइ उमर खान के अलावे रिजर्व और सैट के कई जवान शामिल थें।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.